धाम यात्रा

जरुरी बातें चारधाम यात्रा से पहले

अगर आप चारधाम यात्रा पर जाने की तैयारी कर रहे हैं तो कुछ बताओं का ध्यान रखकर अपनी यात्रा और भी मंगलमय बना सकते हैं |

चारधाम यात्रा में हिमालय की गोद में बसे हुए तीर्थ स्थलों के दर्शनों के लिए लाखों श्रद्धालु हर वर्ष उत्तराखंड आते हैं | चारधाम यात्रा का क्रम यमुनोत्री से शुरू होता है और गंगोत्री , केदारनाथ होते हुए बद्रीनाथ में ख़तम होता है | यात्रा में श्रद्धालु प्रकृति की सुंदरता भी देखते रहते हैं |

चारधाम यात्रा की तैयारी

चारधाम यात्रा मार्ग पहाड़ों से होकर जाता है | गंगोत्री और बद्रीनाथ धाम सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है | केदारनाथ और यमुनोत्री धाम में सड़क मार्ग के अतिरिक्त 18 किमी व 6 किमी पैदल चलना पड़ता है | केदारनाथ में हेलीकाप्टर सेवा भी है |

चारधाम यात्रा पर जाने से पहले यात्रियों को कुछ तैयारी जरूर करनी चाहिए जिससे उन्हें पहाड़ी सडकों में यात्रा करने , नदी झरनों को पार करने, ऊंचाई में चलना, पहाड़ी रस्ते और काम तापमान आदि में ज्यादा दिक्कत नहीं आये |

चारधाम यात्रा के लिए सबसे बढ़िया समय

सबसे पहले ये जानें के चारधाम यात्रा शुरू कब होती है | यात्राकाल अप्रैल-मई से अक्टूबर-नवंबर रहता है | सबसे ज्यादा यात्री मई-जून और सितम्बर-अक्टूबर में आते हैं | यही चारधाम यात्रा का सबसे सही समय होता है | बरसात के महीनों में पहाड़ों के टूटने और ज्यादा बारिश से यात्रा सुविधाजनक नहीं होती |

बजट चारधाम पैकेज

कैसे जाएँ चारधाम यात्रा पर

चारधाम यात्रा में सबसे सुविधाजनक तरीका किसी सही टूर ऑपरेटर के द्वारा पैकेज लेकर जाना है | बड़ी संख्या में यात्रियों के आने से होटल आदि में जगह नहीं मिल पाती | इस समस्या से बचने के लिए किसी सही टूर ऑपरेटर से पैकेज लेना ही सुविधाजनक है |

क्या शारीरिक फिटनेस है जरुरी ?

चारधाम यात्रा सड़क और पैदल यात्रा से भरी पड़ी है | इसके लिए यात्री को हिष्ट पुष्ट होना चाहिए और रोगियों को यात्रा में जाने से बचना ही चाइये | यात्रा में जाने से पहले अपना सही से मेडिकल जांच करवा लेनी चाहिए | खास कर के बुजुर्गों को अपनी जांच करवानी चाइये जिससे उन्हें यात्रा में दिक्कत न हो |

चारधाम यात्रा पर अन्य जरुरी बातें

  • मंदिरों में जाने से पहले जूते चप्पल बहार उतारें और अपने सर को किसी कपडे से ढक दें |
  • गर्मियों में हलके गर्म और अक्टूबर-नवम्बर में भारी गरम कपडे लेकर आयें
  • अपने साथ कम्बल, छाता, बरसाती, टोर्च, जूते और कम सामान लायें |
  • अपने साथ क्रीम, मॉइस्चराइजर और सनस्क्रीन लोशन लायें
  • अपने साथ अपनी दवाईयां लेकर आयें | यात्रा मार्ग में आपकी रोजमर्रा की दवाएं शायद न मिले |
  • चोकलेट , टॉफ़ी , मेवे , ग्लूकोस आदि साथ लेकर चलें | पैदल मार्ग में ये आपको तत्काल उर्जा देंगे |
  • जब भी रस्ते में किसी से दिशा पूछें तो किसी दुकानदार या लोकल लोगों का सहारा लें |
  • चारधाम यात्रा के लिए 4 महीने पहले से शारीरिक तैय्यारियाँ शुरू कर लें |
  • बरसात में यात्रा पर न निकलें |
  • स्वयं यात्रा प्लान करना सस्ता होता है परन्तु सुविधाजनक यात्रा के लिए किसी विशेषज्ञ स्थानीय ट्रेवल एजेंट से पैकेज लें |
  • यात्रा से पहले ही अपनी सारी बुकिंग प्रक्रिया पूरी कर लें |
  • चारधाम यात्रा के दौरान शराब और मांस का सेवन न करें |
  • यात्रा में सिर्फ पैकेज पानी या उबला हुआ पानी पियें |

अगर आप कोई प्रश्न है तो ये पोस्ट करें!

यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो आप अपनी टिप्पणी कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हमारी टीम आपको जवाब / समाधान प्रदान करने का प्रयास करेगी

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments