धाम यात्रा

यमुनोत्री के प्रमुख दर्शनीय स्थल

Kharsali-Yamunotri

Kharsali-Yamunotri

Img Src

यमुनोत्री में और उसके आसपास दर्शन करने योग्य स्थान  (पर्यटन स्थल)

आमतौर पर तीर्थयात्री यमुनोत्री धाम के लिए एक दिन की यात्रा या अधिकतम 1 रात तक रुकना पसंद करते है । इस वजह से कुछ आकर्षक और सुन्दर दर्शनीय स्थलों के दर्शन करना तीर्थयात्री भूल जाते है | हालाँकि यदि आप एक या दो दिनों के लिए यमुनोत्री धाम की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं, तो यमुनोत्री में निम्न स्थानों को देखना न भूलें|यमुनोत्री में हर तरह के पर्यटकों के लिए विभिन्न दर्शनीय स्थल है | जहां तीर्थयात्रियों के लिए सप्तऋषि कुंड, यमुनोत्री मंदिर, सूर्य कुंड, दिव्य शिला, हनुमान चट्टी, है तो वहीं चंबा, बड़कोट, खरसाली में साहसिक प्रेमियों के लिए ट्रेकिंग भी हैं।

  • यमुनोत्री मंदिर: यमुनोत्री में मुख्य आकर्षण देवी यमुना को समर्पित मंदिर और जानकीचट्टी से लगभग 7 किमी दूर पवित्र थर्मल सल्फर स्प्रिंग्स हैं। हनुमान चट्टी से लेकर यमुनोत्री तक की छटा बहुत ही मनमोहक है।
  • सप्तऋषि कुंड: सप्तऋषि कुंड को यमुना नदी का उद्गम स्थल माना जाता है। 4421 मीटर की ऊंचाई पर, सप्तऋषि कुंड को यमुना नदी का उद्गम माना जाता है। अपने गन्दे नीले पानी, कंकड़ और ब्रह्मा कमल के दुर्लभ दर्शन के साथ, सप्तर्षि कुंड की अद्भुत छठा देखते ही बनती है । सप्तर्षि कुंड की यात्रा करने से पहले, यह आवश्यक है कि आप यमुनोत्री में एक दिन रहकर इस क्षेत्र की जलवायु परिस्थितियों से परिचित हों।
  • सूर्य कुंड: मंदिर के आसपास कई थर्मल झरने हैं जो कई कुंडों में बहते हैं। इनमें से सबसे महत्वपूर्ण सूर्य कुंड है |
  • दिव्या शिला: यह यमुनोत्री में सूर्य कुंड के पास स्थित एक बड़ी चट्टान है |  दिव्य शिला भक्तों के लिए एक भक्तिमय एहसास प्रस्तुत करता है। यह परम्परा है कि सभी भक्तों को यमुनोत्री में प्रवेश करने से पहले दिव्य शिला पर पूजा करनी चाहिए।
  • हनुमानचट्टी: यमुनोत्री से 13 किमी दूर, हनुमान गंगा और यमुना नदियों का संगम, जहाँ से डोडी ताल (3,307mt) के लिए ट्रेक शुरू होता है।
  • खरसाली: खरसाली पिकनिक के लिए रोमांचक परिवेश और सुंदर वातावरण वाला स्थान है। बहुत सारे थर्मल झरनों और सुंदर दृश्यों के साथ  खरसाली इस क्षेत्र में सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। एक सुन्दर घास के मैदान जहाँ ओक और कोनिफेर के पेड खरसाली का वातावरण और अद्भुत बना देते है |  
  • बडकोट: यह यमुनोत्री के रास्ते में स्थित एक छोटा सा शहर है, जो यमुनोत्री से सिर्फ 49 किलोमीटर दूर है। बरकोट में एक प्राचीन मंदिर है और यह ध्यान लगाने के लिए एक आदर्श जगह है ।

यमुनोत्री में ट्रैकिंग करने योग्य स्थान

चार धाम गंतव्य के अलावा, यमुनोत्री कुछ अद्भुत और साहसिक लोगों के लिए कठिन ट्रेक भी प्रदान करता है। यमुनोत्री से देहरादून के रास्ते यमुना ब्रिज और बरकोट होते हुए या फिर ऋषिकेश से होते हुए यमुनोत्री तक पहुंचा जा सकता है।

यमुनोत्री की यात्रा के दौरान आप कुछ लोकप्रिय और रोमांचक ट्रेक कर सकते हैं, वे हैं: डोडी ताल ट्रेक, हनुमान चट्टी से फूल चट्टी तक की ट्रेक, जानकी चट्टी से खरसाली तक की ट्रेक।

यमुनोत्री के कुछ प्रमुख त्यौहार

बसंत पंचमी, मार्च महीने में फूल देई और अगस्त महीने में ओलगिया


अगर आप कोई प्रश्न है तो ये पोस्ट करें!

यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो आप अपनी टिप्पणी कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हमारी टीम आपको जवाब / समाधान प्रदान करने का प्रयास करेगी

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments